भारत के 10 सबसे अमीर आदमी | Top 10 Amir Aadmi in India

सबसे बड़ा रिस्क कोई रिस्क ना लेना है …इस दुनिया में जो सचमुच इतनी तेजी से बदल रही है,

केवल एक  रणनीति जिसका फेल होना तय है वो है रिस्क ना लेना।

Mark Zuckerberg, Founder & CEO of Facebook

भारत दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में पांचवें तथा अरबपतियों के मामले में अमेरिका चीन और जर्मनी के बाद चौथे स्थान पर आता है। इस ब्लॉग ‘ Top 10 Amir Aadmi in India‘ में आप भारत के 10 सबसे अमीर व्यक्तियों के बारे में पढेगें।

पिछले कुछ सालों में भारत में अरबपतियों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है। हालांकि 2020 में कोरोना की मार की वजह से 2019 के 106 अरबपतियों के मुकाबले इनकी संख्या थोड़ा सा घटकर 2020 में 102 रह गई है। लेकिन उसके बाद भी एक लंबी छलांग लगाते हुए भारत (102) अरबपतियों की संख्या के साथ अमेरिका (614) चीन (389) और जर्मनी (107) के बाद चौथे स्थान पर बना हुआ है।

पिछले दो-तीन दशक में भारत की अर्थव्यवस्था की रफ्तार बहुत तेज गति से बड़ी है। पिछले कुछ सालों में जिस तरह से भारत में उद्योग और व्यापार के लिए एक बेहतर माहौल बना है, उसका सीधा असर यहां के उद्योग धंधों पर दिखा है। आज भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है जिसका श्रेय भारत के उद्योगपतियों को जाता है।

जब हम भारत के 10 सबसे बड़े बिजनेसमैन | Top 10 Udyogpati in India की बात करें तो यही अमीर व्यक्ति Top 10 richest man in India list में भी टॉप पर बने हुए हैं। अगर आप जानना चाहते है की india में सबसे अमीर कौन है?, तो उसका ज़वाब भी आपको इस ब्लॉग में मिल जाएगा।

भारत के 10 सबसे अमीर आदमी | Top 10 Amir Aadmi in India

Top 10 Amir Aadmi in India

10. अजीम प्रेमजी | Azim Premji

Businessman profile 

  1. Azim Premji की कुल संपत्ति – 8.2 बिलियन डॉलर्स ( 19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार )
  2. आय स्रोत – सॉफ्टवेयर सेवा।
  3. कम्पनी – विप्रो लिमिटेड ( Wipro limited )
Top 10 Amir Aadmi in India

अजीम प्रेमजी एक इंडियन बिलेनियर बिजनेसमैन, इंडियन फेमस बिजनेस टाइकून और एक लोक परोपकारी व्यक्ति है। अजीम प्रेमजी का जन्म 24 जुलाई 1945 को मुंबई में हुआ था, वर्तमान में वे बेंगलुरु में रहते हैं। अजीम प्रेमजी आईटी कंपनी विप्रो लिमिटेड के चेयरमैन है।  

उन्हें भारतीय आईटी इंडस्ट्री में CZAR के नाम से भी जाना जाता है। अजीम प्रेमजी को 2005 में भारत सरकार द्वारा देश के सर्वोच्च सम्मान पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। इसके अलावा 2011 में व्यापार और वाणिज्य के क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान के लिए उन्हें पदम विभूषण सम्मान से भी नवाजा गया था। अजीम प्रेमजी ने अपनी स्नातक की पढ़ाई अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिक इंजीनियर के रूप में पूरी कि।

पिछले 5 दशक से विप्रो के चेयरमैन के रूप में कार्य करते हुए वे विप्रो को लगातार नई ऊंचाइयों पर ले कर गए हैं। विप्रो भारत की तीसरी सबसे बड़ी आईटी कंपनी है। 

अजीम प्रेमजी को दो बार टाइम मैगजीन द्वारा दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों की लिस्ट में शामिल किया जा चुका है। अजीम प्रेमजी भारत के पहले व्यक्ति हैं जिन्होंने ‘ The Giving Pledge’ वादे के तहत अपने हस्ताक्षर किए हैं।

द गिविंग प्लेज एक तरह का फंड है, जिसकी शुरुआत बिल गेट्स और वारेन बफेट के द्वारा जून 2010 में की गई थी। इस वादे पर हस्ताक्षर करने वाला प्रत्येक हस्ताक्षर कर्ता अपनी संपत्ति का आधा हिस्सा इस फंड में दान करने का वादा करता है।

9. गोदरेज परिवार | Godrej Family

Businessman profile

  1. Godrej Family की कुल संपत्ति – 11 बिलियन डॉलर्स (19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार।)
  2. आय स्रोत – उपभोक्ता वस्तुएँ और अचल संपत्ति।
  3. कंपनी – गोदरेज समूह ( Godrej Group )
Top 10 Amir Aadmi in India

गोदरेज परिवार अपनी 123 साल पुरानी उपभोक्ता माल दिग्गज़ कंपनी गोदरेज समूह कंपनी ( 6 बिलियन डॉलर रेवेन्यू ) का स्वामित्व रखता है।  गोदरेज समूह की शुरुआत वकील आर्देशिर गोदरेज ने 1897 में की थी, जब आर्देशिर गोदरेज ने अपने शहर की बढ़ती अपराध दर के बारे में एक अखबार के लेख में पढ़ा और उन्होंने अपने भाई फिरोज शाह की सहायता से ताले विकसित करना और बेचना शुरू किया। 

वर्तमान में इस समूह की अध्यक्षता आदि गोदरेज संभाल रहे हैं, जिन्होंने सन् 2000 में अध्यक्ष के रूप में कार्यभार संभाला था। गोदरेज ब्रदर्स ने गोदरेज समूह के अंतर्गत अपने व्यापार की विविधता बढ़ाने के लिए निम्न कंपनियों की भी शुरुआत की जैसे कि Godrej Industries, Godrej Agrovate, Godrej consumer products, Godrej properties, Godrej Infotech और एक होल्डिंग कंपनी Godrej and Boyce

गोदरेज परिवार की सबसे मूल्यवान संपत्ति मुंबई के विक्रोली में उनकी 35 सौ एकड़ भूमि है, जिसकी अनुमानित कीमत 12 बिलियन डॉलर है।  आदि गोदरेज अप्रैल 2011 व 2016 तक Indian School of business के चेयरमैन भी रह चुके हैं।

8. PS मिस्त्री | Pallonji Shapoorji Mistry

Businessman profile 

  1. PS Mistry की कुल संपत्ति – 13.5 बिलियन डॉलर्स (19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार।)
  2. आय स्रोत – निर्माण।
  3. कंपनी – पालोनजी शापूरजी ग्रुप ( Pallonji Shapoorji Group )
Top 10 Amir Aadmi in India

पालोनजी मिस्त्री, पालोनजी शापूरजी ग्रुप के अध्यक्ष, एक भारतीय बिजनेसमैन और कंस्ट्रक्शन टायकून भी हैं। PS मिस्त्री भारत के सबसे बड़े निजी समूह टाटा समूह के प्राथमिक शेयरधारकों में सबसे बड़े व्यक्तिगत शेयर धारक भी है। उन्हें टाटा समूह में Phantom of Mumbai House के नाम से भी जाना जाता है। वर्तमान में टाटा समूह में उनके 18.4% शेयर हैं। PS मिस्त्री पालोनजी कंस्ट्रक्शन लिमिटेड, फोर्ब्स टेक्सटाइल और यूरेका फॉर्ब्स लिमिटेड के भी मालिक हैं।

इन सबके अलावा ताज होटल में भी उनकी आंशिक हिस्सेदारी है। व्यापार और उद्योग के क्षेत्र में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए 2016 में उन्हें पदम भूषण सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है। पालोनजी मिस्त्री का जन्म 1929 में गुजरात के एक पारसी परिवार में हुआ था। सन 2003 में उन्होंने एक आयरिश लड़की से शादी कर ली और आयरलैंड की नागरिकता ले ली थी। वर्तमान में PS मिस्त्री  आयरलैंड के सबसे अमीर व्यक्ति हैं। 

इनके बेटे साइरस मिस्त्री 2011 से 2016 तक टाटा संस के चेयरमैन भी रह चुके हैं। 

7.हिंदूजा ब्रदर्स | Hinduja Brothers

Businessman profile 

  1. Hinduja Brothers की कुल संपत्ति – 13.9 बिलियन डॉलर्स (19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार।)
  2. आय स्रोत – विविध।
  3. निवास – London, UK
  4. कंपनी – Hinduja Brothers Group Companies
Top 10 Amir Aadmi in India

हिंदूजा ग्रुप कंपनी की शुरुआत 1914 में परमानंद दीपचंद हिंदुजा के द्वारा की गई थी। परमानंद दीपचंद हिंदुजा एक सिंधी परिवार से थे। हिंदूजा ग्रुप मुंबई, भारत में स्थित एक एंग्लो इंडियन ट्रांसनेशनल समूह है, जिसका मुख्यालय लंदन(UK) में है।

कंपनी द्वारा अपने कारोबार की शुरूआत भूतपूर्व पाकिस्तान के शिकारपुर तथा भारत के मुंबई शहर से की थी। हिंदुजा समूह द्वारा अपना पहला अंतरराष्ट्रीय कारोबार 1919 में ईरान के साथ किया था। 1979 में जब ईरान में इस्लामिक आंदोलन जोरों पर था तो कंपनी को अपना मुख्यालय ईरान से यूरोप ले जाना पड़ा।

परमानंद दीपचंद हिंदुजा के चार बेटे है।  वर्तमान में हिंदुजा समूह के चेयरमैन पद को परमानंद दीपचंद हिंदुजा के बड़े बेटे श्रीचंद हिंदुजा संभाल रहे हैं। समूह के अध्यक्ष श्रीचंद हिंदुजा और उनके छोटे भाई गोपीचंद हिंदुजा ( सह अध्यक्ष ) 1979 में कंपनी के निर्यात व्यवसाय को विकसित करने के लिए लंदन चले गए थे। इनका तीसरे नंबर का भाई प्रकाश हिंदुजा स्विजरलैंड के जिनेवा में समूह का संचालन कर रहा है। जबकि सबसे छोटा भाई अशोक हिंदूजा भारत में कंपनी के हितों का संरक्षण व प्रबन्धन कर रहा है।

हिंदूजा ग्रुप, आज दुनिया के सबसे बड़े ऐसे समूहों में से एक बन गया है, जो Multi Business Model पर काम कर रहे हैं। यह समूह कुल 11 क्षेत्रों में अपना कारोबार कर रहा है, जिनमें से कुछ मुख्य क्षेत्र हैं – आटोमोटिव्स, तेल और रसायन, बैंकिंग और वित्त, इनफॉरमेशन टेक्नोलॉजी, साइबर सुरक्षा, हेल्थ केयर, ट्रेडिंग, इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट डेवलपमेंट, मीडिया एंटरटेनमेंट, रियल स्टेट आदि।

यह समूह डेढ़ लाख से अधिक लोगों को रोजगार देता है और भारत सहित दुनियाभर के कई प्रमुख शहरों में इसके कार्यालय हैं। 2017 में श्रीचंद व गोपीचंद हिंदुजा को 16.2 बिलियन पाउंड संपत्ति के साथ Sunday Times Rich List 2017 द्वारा ब्रिटेन का सबसे धनी व्यक्ति घोषित किया गया था। 2015 में The Asian Awards में हिंदुजा बंधुओं को Business Leaders of The Year अवार्ड से भी सम्मानित किया गया था।

6. लक्ष्मी मित्तल | Lakshmi Niwas Mittal

Businessman profile

  1. Lakshmi Mittal की कुल संपत्ति – 14.5 बिलियन डॉलर्स ( 19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार )
  2. आय स्रोत – इस्पात निर्माण।
  3. निवास स्थान – London, UK 
  4. कंपनी – आर्सेलर मित्तल ( Arcelor Mittal )
Top 10 Amir Aadmi in India

लक्ष्मी निवास मित्तल दुनिया की सबसे बड़ी ( 70.6 Billions Dollars Revenue )  इस्पात और खनन कंपनी आर्सेलर मित्तल के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी हैं। 2006 में वे अपने भाई बहनों से अलग होकर फ्रांस की एक स्टील कंपनी आर्सेलर से विलय करने फ्रांस चले गए थे। 

लक्ष्मी निवास मित्तल का जन्म राजस्थान के सादुलपुर में 15 जून 1950 में एक मारवाड़ी परिवार में हुआ था। लक्ष्मी निवास मित्तल यूके स्थित एक भारतीय स्टील मैग्नेट, अरबपति और एक फेमस बिजनेस टाइकून है। आर्सेलर मित्तल में लक्ष्मी मित्तल की 38% स्टॉक हिस्सेदारी है और Queens Park Rangers F.C  में उनकी 20% हिस्सेदारी है। सन 2005 में फोर्ब्स की सबसे धनी व्यक्तियों की सूची में उन्हें तीसरे स्थान पर शामिल किया गया था, यह पहली बार था जब किसी भारतीय को फोर्ब्स पत्रिका द्वारा दुनिया के शीर्ष 10 सबसे अमीर व्यक्तियों की सूची में शामिल किया गया था। 

सन 2007 में लक्ष्मी मित्तल को यूरोप में सबसे धनी व्यक्ति घोषित किया गया था। लक्ष्मी निवास मित्तल सन 2008 से गोल्डमैन शेक के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स के सदस्य के रूप में कार्य कर रहे हैं। वे वर्ल्ड स्टील एसोसिएशन की कार्यकारी समिति में भी बैठते हैं। 

सन 2005 में संडे टाइम्स ने उन्हें ‘बिजनेस पर्सन ऑफ़ 2006’ अवार्ड से सम्मानित किया, फाइनेंसियल टाइम्स ने ‘पर्सन ऑफ़ द ईयर’ तथा टाइम मैगज़ीन ने  ‘इंटरनेशनल न्यूज़मेकर ऑफ़ द ईयर 2006’ सम्मान से नवाज़ा था। लक्ष्मी मित्तल ने अपनी स्नातक की पढ़ाई बी कॉम स्नातक के रूप में कोलकाता के सेंट जेवियर कॉलेज से पूरी की। उन्हें यूरोपियन एसोसिएशन डिफेंस एंड स्पेस कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में भी शामिल किया गया है।

5. उदय कोटक | Uday Kotak

Businessman profile

  1. Uday Kotak की कुल संपत्ति – 16 बिलियन डॉलर्स ( 19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार )
  2. आय स्रोत – बैंकिंग।
  3. कंपनी – कोटक महिंद्रा बैंक ( Kotak Mahindra Bank )
Top 10 Amir Aadmi in India

अपने परिवार के व्यवसाय को बढ़ाने के उद्देश्य से उदय कोटक ने 1985 में एक छोटी सी फाइनेंस फर्म की शुरुआत की थी, जिसे बाद में 2003 में एक बैंक का रूप दे दिया गया। उनका कोटक महिंद्रा बैंक भारत के निजी क्षेत्र के 4 सबसे बड़े बैंकों में से एक है।

उदय कोटक, कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड के संस्थापक, एमडी और अध्यक्ष हैं। उदय कोटक एक राष्ट्रीय कानून संस्था सिरिल अमरचंद मंगलदास के स्ट्रैटेजिक बोर्ड सदस्य भी हैं। 2014 में उन्हें साल के Ernst and young global entrepreneur सम्मान से नवाजा गया था। 

उदय कोटक का जन्म 15 मार्च 1959 को गुजरात के एक मध्यमवर्गीय संयुक्त परिवार में हुआ था। इनके परिवार में 60 लोग एक ही छत के नीचे रहते थे तथा एक ही रसोईघर साझा करते थे। मूल रूप से उनका परिवार कपास का व्यापार करता था। 1980 में जब भारत एक बंद अर्थव्यवस्था थी और इकोनामिक ग्रोथ ना के बराबर थी उस समय एक बहुराष्ट्रीय कंपनी की नौकरी के ऑफर को ठुकरा कर उदय कोटक ने अपने दम पर कुछ करने का फैसला लिया था। 

22 मार्च 2003 को कोटक महिंद्रा फाइनेंस लिमिटेड भारत के कॉर्पोरेट इतिहास में भारतीय रिजर्व बैंक से बैंकिंग लाइसेंस प्राप्त करने वाली पहली कंपनी बनी थी। कोटक महिन्द्रा बैंक ने अपनी ‘कोटक 811’ मोबाइल बैंकिंग एप का यह नाम 8 नवंबर 2016 में भारत में की गई नोटबंदी के आधार पर रखा है।

उदय कोटक को बचपन में क्रिकेट खेलना और सितार बजाना बहुत पसंद था। उदय कोटक ने अपनी स्नातक की पढ़ाई Sydenham College of Commerce & Economics से पूरी की। जबकि उन्होंने अपनी एमबीए की पढ़ाई जमनालाल बजाज विश्वविद्यालय से पूरी की है।

4. राधाकिशन दमानी | Radhakishan Damani

Businessman profile

  1. RK Damani की कुल संपत्ति – 18.7 बिलियन डॉलर्स ( 19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार )
  2. आय स्रोत – खुदरा और निवेश।
  3. कंपनी – Retail Chain D-mart, Avenue Supermart
Top 10 Amir Aadmi in India

राधाकिशन दमानी एक भारतीय अरबपति बिजनेसमैन, एक निवेशक और रिटेल चैन D-Mart के संस्थापक हैं। वे अपने निवेश पोर्टफोलियो का प्रबंधन अपनी इन्वेस्टमेंट फर्म Bright star Investment Limited के द्वारा करते हैं। मार्च 2017 में इन्होंने अपनी सुपरमार्केट चेन एवेन्यू सुपरमार्ट के आईपीओ जारी किए, जिसके बाद से राधाकिशन दमानी भारतीय रिटेल मार्केट के रिटेल किंग बन गए हैं। 

राधाकिशन दमानी ने अपने रिटेल बिजनेस की शुरुआत 2002 में मुंबई के एक सब अर्बन एरिया में अपना पहला रिटेल स्टोर खोलकर की थी। आज पूरे भारत में उनकी रिटेल चैन D-mart के कुल 214 स्टोर्स है। इसके अलावा उनके पास मुंबई के अलीबाग में समुद्र तट के करीब एक 156 कमरों का रेडिसन ब्लू रिजॉर्ट भी है।

राधाकिशन दमानी का बचपन मुंबई के एक सिंगल रूम अपार्टमेंट में गुजरा। जीवन जीने के सीधे-साधे तरीके और उनकी उच्च सोच की वजह से उन्हें मिस्टर व्हाईट के नाम से भी जाना जाता है। इन सबके अलावा वे एक सफल स्टॉक मार्केट निवेशक, ट्रेडर और ब्रोकर भी हैं। उनके पिता भी मुंबई के दलाल स्ट्रीट में काम करते थे। 

जब राधाकिशन दमानी मुंबई विश्वविद्यालय में अपनी कॉमर्स की पढ़ाई कर रहे थे तभी उनके पिता का निधन हो गया था जिसके कारण उन्हें अपनी पढ़ाई को बीच में ही छोड़ना पड़ा पिता की मृत्यु के बाद उन्हें अपना बॉल बेयरिंग का बिजनेस छोड़ना पड़ा और वे स्टॉक मार्केट मैं ब्रोकर और इनवेस्टर का काम करने लगे।

3. शिव नादर | Shiv Nadar

Businessman profile

  1. Shiv Nadar की कुल संपत्ति – 22.2 बिलियन डॉलर्स ( 19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार )
  2. आय स्रोत – सॉफ्टवेयर सेवाएँ।
  3. कंपनी – एचसीएल टेक्नोलॉजीज ( HCL Technologies )
Top 10 Amir Aadmi in India

भारतीय आईटी अग्रणी शिव नादर ने 1976 में एक गैरेज में एचसीएल की स्थापना एक केलकुलेटर और माइक्रोप्रोसेसर निर्माण कंपनी के रूप में की थी। आज वे एचसीएल टेक्नोलॉजी ( 9.9 बिलीयन डॉलर रेवेन्यू ) कंपनी के अध्यक्ष हैं, जो कि मार्केट कैप के हिसाब से भारत की तीसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा प्रदाता कंपनी है। 

जुलाई 2020 में उन्होंने अपनी बेटी रोशनी नादर मल्होत्रा ( Roshni Nadar Malhotra ) को एससीएल टेक्नोलॉजी का अध्यक्ष पद सौंप दिया था, इसके बाद से ही रोशनी नादर भारत की सबसे अमीर महिला भी बन गई है। एचसीएल टेक्नोलॉजीज दुनिया भर के 49 देशों में डेढ़ लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार देती है। शिव नादर भारत के सबसे परोपकारी व्यक्तियों में से एक है। वे अब तक 662 मिलियन डॉलर अपने एक फंड शिव नादर फाऊंडेशन Shiv Nadar Foundation में दान कर चुके हैं। यह फाउंडेशन भारत में शिक्षा संबंधी योजनाओं का समर्थन करता है। 

शिव नादर का जन्म 14 जुलाई 1945 को तमिलनाडु के तूतीकूरी जिले में हुआ था। शिव नादर ने अपनी स्नातक की पढ़ाई इलेक्ट्रिक एंड इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर के रूप में कोयंबटूर के PSG COLLEGE OF TECHNOLOGY से पूरी की है। 

शिव नादर को 2008 में भारत सरकार द्वारा पदम भूषण सम्मान से सम्मानित किया गया था। आज शिव नादर भारत के शीर्ष 10 सबसे अमीर व्यक्तियों में शुमार है।

2.गौतम अडानी | Gautam Adani

Businessman profile

  1. Gautam Adani की कुल संपत्ति – 25.2 बिलियन डॉलर्स ( 19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार )
  2. Indian ports tycoon – Gautam Adani
  3. आय स्रोत – कमोडिटीज़, बुनियादी ढांचा, और स्व-निर्मित।
Top 10 Amir Aadmi in India

अदानी ग्रुप के संस्थापक और चेयरमैन गौतम शांतिलाल अदानी का जन्म 24 जून 1962 को गुजरात के अहमदाबाद में एक जैन परिवार में हुआ था। इनकी कंपनी अदानी ग्रुप का मुख्यालय गुजरात के अहमदाबाद में है। यह कंपनी बंदरगाह विकास व निर्माण संबंधी व्यवसाय करती है। 

उनकी एक दूसरी कंपनी अदानी फाउंडेशन ( Adani Foundation ) शिक्षा, स्वास्थ्य, सतत आजीविका और ग्रामीण बुनियादी ढांचागत निर्माण संबंधी कार्य करती है, जिसका कार्यभार उनकी पत्नी प्रीति अदानी संभालती है।

गौतम अडानी ने अपनी कंपनी अदानी ग्रुप की शुरुआत 1988 में बिजली और कृषि वस्तुओं के व्यापार से की थी। लेकिन बाद में धीरे-धीरे अपने व्यापार का विस्तार किया और वर्तमान में वे संसाधन, लॉजिस्टिक्स, ऊर्जा, कृषि, रक्षा और एयरोस्पेस आदि क्षेत्रों में कार्यरत हैं।

1.मुकेश अंबानी | Mukesh Ambani

Businessman profile- 

  • Mukesh Ambani की कुल संपत्ति – 76.4 बिलियन डॉलर्स ( 19/12/2020 के फोर्ब्स पत्रिका के आंकड़ों के अनुसार )
  • आय स्रोत – पेट्रोकेमिकल व्यवसाय, तेल और गैस, दूरसंचार और खुदरा बाजार।
  • भारत के सबसे अमीर आदमी ( Bharat Ka Sabse Amir Aadmi ) कौन है – मुकेश अंबानी
  • एशिया के सबसे अमीर आदमी ( Asia Ka Sabse Amir Aadmi ) कौन हैमुकेश अंबानी
  • भारत का सबसे बड़ा Businessman कौन है – मुकेश अम्बानी।
Top 10 Amir Aadmi in India ( Top 10 Amir in India )

मुकेश अंबानी का जन्म धीरूभाई अंबानी व कोकिलाबेन अंबानी के सबसे बड़े बच्चे के रूप में 19 अप्रैल 1957 को Aden ( वर्तमान में यमन ) नामक द्वीप पर हुआ था। यमन पश्चिम एशिया में लाल सागर और Aden की खाड़ी से घिरा एक छोटा सा देश है।

मुकेश अंबानी ने अपनी आरंभिक शिक्षा मुंबई के हिल ग्रेंज हाई स्कूल से तथा अपनी स्नातक की पढ़ाई मुंबई के इंस्टीट्यूट आफ केमिकल टेक्नोलॉजी से केमिकल इंजीनियर के रूप में प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने अपनी एमबीए की पढ़ाई के लिए सयुंक्त राज्य अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में दाखिला ले लिया। लेकिन कुछ निजी कारणों से उन्होंने अपनी एमबीए की पढ़ाई को बीच में ही छोड़ दिया और वे अपने पिता की व्यवसाय में मदद करने के लिए वापस भारत आ गए।

केवल 18 साल की उम्र में ही मुकेश अंबानी अपने पिताजी के व्यवसाय में रुचि लेने लगे थे। उनकी रूचि को देखते हुए उनके पिता ने उन्हें रिलायंस इंडस्ट्री के बोर्ड सदस्य के रूप में शामिल कर लिया था। 1986 में मुकेश अंबानी के पिता धीरूभाई अंबानी को एक हार्ट अटैक आ गया, लेकिन किस्मत से वे बच गए, डॉक्टर्स ने उन्हें आराम करने की सलाह दी।

इसके बाद उनके पूरे बिजनेस को उनके दोनों बेटों मुकेश अंबानी व अनिल अंबानी ने संभाल लिया। रिलायंस ने दूरसंचार क्षेत्र में अपना भाग्य आजमाने के लिए रिलायंस इन्फोकॉम लिमिटेड की स्थापना की, जो कि वर्तमान में रिलायंस कम्युनिकेशन लिमिटेड के नाम से जानी जाती है। जब इसकी शुरुआत की गई थी तब यह भारत की सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी थी।

बाद में उन्होंने जामनगर, गुजरात में बुनियादी क्षेत्र की दुनिया की सबसे बड़ी पेट्रोकेमिकल रिफायनरी की भी स्थापना की, जोकि भारत की सबसे बड़ी पेट्रोकेमिकल उत्पादन कंपनी है। 2010 के आंकड़ों के अनुसार इस रिफायनरी की उत्पादन क्षमता 660000 बैरल प्रतिदिन थी।

2002 में धीरूभाई अंबानी को दूसरा हार्ट अटैक आया और वे इस दुनिया को अलविदा कह कर चले गए। धीरूभाई अंबानी जी की मृत्यु के बाद दोनों भाइयों मुकेश अंबानी व अनिल अंबानी के बीच प्रभुत्व के मुद्दों पर विवाद शुरू हो गया और आखिरकार 2005 में रिलायंस साम्राज्य दोनों भाइयों के बीच में बट गया।

सबसे बड़े भाई मुकेश अंबानी को रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ( RIL )इंडियन पेट्रोकेमिकल कॉरपोरेशन लिमिटेड ( IPCL ) का स्वामित्व मिला तथा छोटे भाई अनिल अंबानी को रिलायंस कैपिटल, रिलायंस पावर व रिलायंस इन्फोकॉम आदि कंपनियों का स्वामित्व मिला। मुकेश अंबानी द्वारा संचालित कंपनी ‘ रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड समूह ‘ के नाम से तथा अनिल अंबानी द्वारा संचालित कंपनी ‘ अनिल धीरूभाई अंबानी समूह ‘ के नाम से अपना व्यवसाय चला रही है।

नोट – : मुकेश अम्बानी के भारत का सबसे अमीर आदमी बनने के सफ़र की पूरी कहानी नीचे दिए लिंक पर जाकर पढ़ सकते है।

https://successmatters.in/2020/10/30/mukesh-ambanis-biography-in-hindi/

इनके बारे में भी पढ़े -:

आपको मेरा यह ब्लॉग ‘Top 10 Amir Aadmi in India‘ कैसा लगा, मुझे कमेंट करके बताएं।

अगर आपको मेरा यह ब्लॉग ‘भारत के 10 सबसे अमीर आदमी | Top 10 Amir Aadmi in India‘ अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों को भी शेयर करें .

ताकि जो लोग जीवन में कुछ करना  चाहते है, कुछ बनना चाहते।  लेकिन जीवन की मुसीबतों के कारण हार मान कर बैठ गए है वे इन ‘Top 10 Amir Aadmi in India‘ की जीवनी से inspire हो सके, motivate हो सके।

मेरे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक व अपने दोस्तों के साथ शेयर करें, लिंक नीचे दे दिया गया है।

https://www.facebook.com/successmatters4me-113401247074883

Add a Comment

Your email address will not be published.