माइकल जॉर्डन के बचपन की सच्ची कहानी | A Best Life Changing Story In Hindi

अगर आप एक बार हार मान लेते हैं तो यह एक आदत बन जाती है। इसीलिए जीवन मे कभी हार मत मानना!

— MICHAEL JORDAN

दोस्तों सफलता की इस प्रेरणादायक कहानी में आप एक ऐसे खिलाड़ी के बारे में पढ़ेंगे, जिन्होंने खेल की परिभाषा को ही बदल दिया। इस ‘Life Changing Story In Hindi’ में आप दुनिआ के महान बास्केटबॉल खिलाडी माइकल जॉर्डन के बचपन की एक घटना के बारे में पढ़ेंगे।

A Best Life Changing Story In Hindi

A Best Life Changing Story In Hindi

माइकल जॉर्डन के बचपन की प्रेरणादायक कहानी।

माइकल जॉर्डन बचपन से ही अपनी लगन और हौसलों के पक्के रहे हैं। वे जो ठान लेते थे उसे करके ही दम लेते थे। जीवन में सफलता पाने का यह सिद्धांत भी है कि जब आप किसी काम में पूरी लगन से जुट जाते हैं तो आपका जीतना लगभग तय है।

एक बार माइकल के पिता ने उन्हें एक पुरानी शर्ट दिखाते हुए कहा कि ” माइकल! इस कपड़े की कीमत क्या होगी।” तो जवाब में माइकल ने कहा कि इस पुरानी शर्ट की भला क्या कीमत हो सकती है। कोई भी इस शर्ट के बदले $1 से ज्यादा नहीं दे सकता। माइकल के पिता ने कहा कि क्या तुम इस शर्ट को $2 मैं बेच सकते हो। शुरुआत में तो माइकल को ऐसा लगा कि शायद उनके पिता उनसे मजाक कर रहे हैं। लेकिन बाद में जब उनके पिता ने गंभीरता पूर्वक उनसे यह बात कही, तो थोड़े संकोच के बाद माइकल ने अपने पिता का यह चैलेंज स्वीकार कर लिया।

पहले तो माइकल ने उस शर्ट को अच्छी तरह से धोया जिसकी वजह से उस पुरानी शर्ट में कुछ नयापन आ गया। उसके बाद उसने देखा कि कपड़े में सिलवटें पड़ी हुई है। घर में इस्त्री नहीं थी और ना ही उसके पास इतने पैसे थे कि वे बाहर इस्त्री करवा सके। इसलिए उसने एक तरीका अपनाया उसने उस कपड़े को घर के एक भारी सामान से दबा दिया। जिसकी वजह से उस शर्ट की सलवटें काफी हद तक कम हो गई। 

अगले दिन माइकल उस कपड़े को एक रेलवे स्टेशन पर ले गए जहां 6 घंटे की कड़ी मेहनत के बाद माइकल ने उस कपड़े को $2 में बेच दिया। $2 लाकर उन्होंने अपने पिता को दे दिए। उनके पिता उन्हें देखकर हल्का सा मुस्कुरा दिए और अपने काम में लग गए।

इस घटना के कुछ दिनों बाद ही उसके पिता ने एक दूसरी पुरानी शर्ट माइकल को दिखाते हुए कहा ” माइकल! तुम्हें क्या लगता है इसकी क्या कीमत होगी।” माइकल ने दोबारा से जवाब दिया “इसकी कीमत $1 है।” तो उसके पिता ने उस शर्ट को $20 में बेचने को कहा। माइकल जॉर्डन ने कहा “यह कैसे संभव है। $1 की इस शर्ट को कोई $20 में क्यों खरीदेगा।” इसके जवाब में माइकल के पिता ने कहा कि तुम कोशिश करके तो देखो। कोशिश करने में क्या जाता है। माइकल ने दोबारा चैलेंज को स्वीकार किया। 

उन्होंने इस बार भी उस शर्ट को पहले तो अच्छे से धोया। धोने के बाद वह उस कपड़े को शहर ले गया उस पर स्त्री करवाई और एक मिकी माउस और डोनाल्ड डक का स्टीकर भी उस पर लगवा दिया। स्टिकर लगने के बाद वह शर्ट थोड़ा ठीक-ठाक दिखने लगी। माइकल इस बार इस शर्ट को लेकर एक ऐसे स्कूल के पास चला गया जहां ज्यादातर अमीरों के बच्चे पढ़ते थे। एक छोटा लड़का उसके पास आया और उसने उस शर्ट की कीमत पूछी। जवाब में माइकल ने कहा कि इस शर्ट की कीमत $20 है।

छोटे बच्चे ने अपने पापा से कह कर वह शर्ट खरीद ली। उस व्यक्ति ने माइकल को शर्ट की कीमत 20$ के अलावा $5 टिप के रूप में भी दिए। माइकल ने ये सारे रुपए के जाकर अपने पिता को दे दिए। यह राशि माइकल के पिता की सैलरी के बराबर थी। लेकिन इस बार भी माइकल के पिता उसे देखकर थोड़ा मुस्कुराए और अपने काम में लग गए।

कुछ दिनों बाद फिर से उसी तरह की एक पुरानी शर्ट माइकल के पिता द्वारा माइकल को दी गई और अबकी बार इसे $200 में बेचने को कहा गया। इस बार माइकल ने बिना किसी शंका के चैलेंज को स्वीकार किया और माइकल इसे बेचने के अभियान में लग गया। इस घटना के कुछ दिन बाद ही वहां की एक मशहूर ऐक्ट्रेस फराह फॉकेट अपनी नई फिल्म की प्रमोशन के लिए न्यूयॉर्क आई थी। माइकल सुरक्षा घेरे से बचता हुआ उस एक्ट्रेस के पास पहुंचा और उसका ऑटोग्राफ उस शर्ट पर लेने में कामयाब हो गया। वह एक्ट्रेस भी माइकल की मासूम शक्ल को देख कर उसको मना नहीं कर पाई। 

अगले ही दिन माइकल उस शर्ट को लेकर बाजार चला गया। उसने लोगों को बताया कि इस शर्ट पर मशहूर एक्ट्रेस फराह फॉकेट के ऑटोग्राफ है। लोग उस एक्ट्रेस के दीवाने थे और माइकल की यह बात सुनकर कई लोग शर्ट को खरीदने के लिए तैयार हो गए। माइकल ने कहा कि जो इस शर्ट की सबसे ज्यादा बोली लगाएगा उसी को वह यह शर्ट बेच देगा। इस शर्ट की सबसे ऊंची बोली  $1200 एक अमीर व्यक्ति द्वारा लगाई गई। माइकल ने 1200$ में इस शर्ट को उस व्यक्ति को बेच दिया। माइकल ने सारे रुपए लाकर अपने पिता को दे दिए। 

जब माइकल के पिता को पता चला कि कैसे अपनी मेहनत और लगन से माइकल ने उस पुरानी शर्ट को $1200 में बेचा, तो उसके पिता की आंखों में आंसू आ गए। उन्होंने माइकल को गले से लगा लिया।  आंखों में आंसू और रुंधे गले से माइकल के पिता ने माइकल से कहा “बेटा! मुझे माफ करना। मैं बस यह देखना चाहता था कि अगर मैं ना रहूं तो तुम अपना पेट भर सकते हो या नहीं।” लेकिन अब मुझे यकीन हो गया कि तुम एक दिन बहुत बड़े आदमी बनोगे।

माइकल जॉर्डन ने अपने पिता के कहे शब्दों को सच करके दिखा दिया। आज पूरी दुनिया एक महान बास्केटबॉल खिलाड़ी के रूप में जानती है। NBA ( National Basketball association ) चैंपियनशिप में खेलते हुए उन्होंने पूरी दुनिया में नाम कमाया है।

What You Learn From This Best Life Changing Story In Hindi ?

कोई भी व्यक्ति अपनी मेहनत और लगन से वह सब हासिल कर सकता है, जो वह हासिल करना चाहता है। बस उसे अपने लक्ष्यों को हासिल करने के लिए तब तक जुटे रहने की जरुरत है जब तक वो अपने लक्ष्य में सफल न हो जाएं।

A Best Life Changing Story In Hindi

इनके बारे में भी पढ़े -:

आपको मेरा यह ब्लॉग “Best Life Changing Story In Hindi” कैसा लगा, मुझे कमेंट करके बताएं।

अगर आपको मेरा यह ब्लॉग “माइकल जॉर्डन के बचपन की सच्ची कहानी | Best Life Changing Story In Hindi” अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों को भी शेयर करें .

ताकि जो लोग जीवन में कुछ करना  चाहते है, कुछ बनना चाहते।  लेकिन जीवन की मुसीबतों के कारण हार मान कर बैठ गए है वे इस ‘Best Life Changing Story In Hindi‘ से Inspire हो सके, Motivate हो सके।

मेरे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक व अपने दोस्तों के साथ शेयर करें, लिंक नीचे दे दिया गया है।

https://www.facebook.com/successmatters4me-113401247074883

Add a Comment

Your email address will not be published.