ख़ुश रहने का जापानी फार्मूला | Ikigai Book Summary In Hindi

ख़ुशी जीवन का अर्थ है, उद्देश्य है और ख़ुशी ही मानव अस्तित्व का पूर्ण अभिप्राय और अंत है।

@successmatters

जीवन में ख़ुशी पाने के लिए जापानी लोग IKIGAI नामक तरीक़े का प्रयोग करते है। उसी जापानी तरीके पर आधारित यह Ikigai Book Summary In Hindi आपके जीवन व सोचने के नजरिये को भी बदल सकती है। आप चाहे महिला है या पुरुष, यह इकिगाई बुक समरी आपके लिए एक जीवन बदलने वाली साबित हो सकती है।

आपको इस Book Summary Of Ikigai In Hindi से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा और आप अपनी जिन्दगी के प्रति Motivate व inspire हो जाओगे।

Ikigai Book Summary In Hindi For Happy Life

Ikigai Book Summary In Hindi For Happy Life

IKIGAI का मतलब क्या है ?

इकिगाई का मतलब होता है कि आपके जीवन जीने के मुख्य मकसद को जानना या जीने की मुख्य वजह को जानना। जापान में एक ऐसा छोटा सा द्वीप समूह है, जहां लोग दुनिया के बाकी लोगों से खुशहाल व लंबी जिंदगी जीते हैं। यहां के लोग मानते हैं कि इस दुनिया में हर व्यक्ति का जन्म किसी खास मकसद के लिए हुआ होता है।

वह मकसद ही उस व्यक्ति का इकिगाई ( IKIGAI ) होता है। एक सर्वे के मुताबिक यहां लोग 100 वर्षों से भी ज्यादा जीते हैं तथा बहुत कम बीमार पड़ते हैं। यहां पर लोग 80 और 90 साल की उम्र में भी सुबह उठकर दुनिया के बाकी लोगों की तरह अपने काम पर जाते हैं। इस द्वीप समूह का नाम ओकिनावा है।

ओकिनावा लगभग 150 छोटे-छोटे द्वीपों का एक समूह है, जो पूर्वी चीन सागर में स्थित है। कहते हैं कि यहां के लोग इतनी खुशहाल व लंबी जिंदगी जीने के लिए एक फार्मूले का इस्तेमाल करते हैं। जिसे जापानी भाषा में इकिगाई ( IKIGAI ) कहते हैं। यहां के लोग मानते हैं कि हर व्यक्ति कुछ खास गुणों के साथ पैदा होता है।

जब व्यक्ति अपने इन खास गुणों को पहचान कर उनके अनुसार ही कार्य करता है तो वह न केवल एक तनावमुक्त जीवन जीता है, बल्कि उसे अपने कार्य को करने में आनंद भी आता है और वह पूरी जिंदगी बिना थके, बिना बोर हुए वह कार्य करता रहता है। इसी कारण वह एक खुशहाल व लंबा जीवन जी पाता है

जबकि दूसरी तरफ जब हम कोई ऐसा कार्य करते हैं जो कार्य करना हमें पसंद नहीं है और हमें यह कार्य मजबूरी में करना पड़ता है, तो हमारा दिमाग हमेशा तनाव में रहता है। हम कभी खुश नहीं हो पाते।

इस फार्मूले की एक खास बात यह है कि दुनिया का कोई भी व्यक्ति कहीं से भी इस फार्मूले का इस्तेमाल कर अपने इकिगाई ( IKIGAI ) को यानी अपने जीने की वजह को ढूंढ सकता है और ओकिनावा के लोगों की तरह ही एक खुशहाल और लंबा जीवन जी सकता है।

शिक्षा प्राप्ति के बाद जब हम बाहरी दुनिया में निकलते हैं, तो हमें जीवन यापन के लिए कोई ना कोई रोजगार करना पड़ता है और अपनी जिंदगी का एक बड़ा हिस्सा हम यह रोजगार करने में ही बिता देते हैं। इसलिए अगर हम शुरुआत में ही अपने रोजगार का चयन करने में इकिगाई ( IKIGAI ) फार्मूले का इस्तेमाल करते हैं, तो हमारी पूरी जिंदगी खुशी-खुशी बिना किसी तनाव के अपनी पसंद का कार्य करते हुए गुजर जाती है।

इसलिए रोजगार चयन के समय जब आप किसी दूसरे व्यक्ति से सलाह लेते है तो, कोई आपसे कहेगा कि जिस काम को करने में तुम्हें खुशी मिलती है वह कार्य करो, कोई कहेगा कि जिस काम को करने में तुम एक्सपर्ट हो।

यानी जिस काम को तुम अच्छे से कर सकते हो वह करो, या फिर कोई कह सकता है कि जिस काम को करने से तुम्हें ज्यादा पैसे मिले वह करो या फिर कोई कह सकता है कि जिस काम की दुनिया को जरूरत है यानी जिस काम से दूसरों की भलाई या फायदा होता है वह काम करो।

दरअसल कोई भी व्यक्ति हमें इन चारों में से ही एक विकल्प चुनने की सलाह देता है। जबकि इकिगाई इन चारों का कंबीनेशन होता है। यदि हमें इनमें से एक हिस्से को भी छोड़ दिया तो आपका इकिगाई ( IKIGAI ) फार्मूला अधूरा रह जाता है। चलिए इस फार्मूले को हम एक डायग्राम Ikigai Worksheet की मदद से समझते हैं।  

IKIGAI वर्कशीट या IKIGAI चार्ट।

Ikigai Book Summary In Hindi For Happy Life

IKIGAI कैसे काम करता है ?

पहले और दूसरे सर्कल के कंबीनेशन से हमें अपना पैशन ( Passion ) मिलता है यानी आपको कोई काम करना पसंद है और आप बार-बार यह काम करते करते इस काम में एक्सपर्ट भी हो गए है। जैसे कि आपको कंप्यूटर प्रोग्रामिंग या कोडिंग करना पसंद है और आपने मेहनत करके इस स्किल को अच्छा भी कर लिया है।

जबकि दूसरे व तीसरे सर्कल के कंबीनेशन से आपको आपका प्रोफेशन ( Profession ) मिलता है यानी जिस काम में आप एक्सपर्ट है उस काम को करने के बदले आपको पैसे भी मिलते हैं। जैसे की आप कंप्यूटर प्रोग्रामिंग या कोडिंग में एक्सपर्ट है और इस काम के बदले आपको पैसे भी मिलते हैं।

तीसरे और चौथे सर्कल के कंबीनेशन से आपको आपका वोकेशन ( Vocation ) मिलता है। जैसे की मान लीजिए आपको कंप्यूटर प्रोग्रामिंग से कोई ऐसा सिस्टम तैयार कर लिया है जिसकी दुनिया को जरूरत थी और उसके बदले में आपको पैसे भी मिलते हैं।

अंत में चौथे व पहले सर्कल के कंबीनेशन से आपको आपका मिशन ( Mission ) मिलता है यानी जिसकी दुनिया को जरूरत थी वही काम आपको करना भी पसंद है।

अब आप सही से समझ गए होंगे कि किस तरह इकिगाई ( IKIGAI ) चार हिस्सों से मिलकर बनता है और जब आप इसके एक या दो हिस्सों के कंबीनेशन को अपनाकर बाकी हिस्सों को इग्नोर कर देते हैं, तब आपको जीवन में मुसीबतों का सामना करना पड़ता है।

उदाहरण के लिए हम एलोन मस्क द्वारा बनाई इलेक्ट्रिक कार को ले लेते हैं। टेक्नोलॉजी में एलोन मस्क की रूचि थी इसलिए उन्होंने इलेक्ट्रिक कार बनाने का फैसला किया। इसके लिए उन्होंने बहुत मेहनत की और वे इस काम में एक्सपर्ट हो गए।

अब उनकी बनाई इलेक्ट्रिक कार की दुनिया को जरूरत थी क्योंकि इसे प्रदूषण कम होता है। इसलिए लोगों की जरूरत पूरी हुई और इसके लिए एलोन मस्क को पैसे भी मिले। इस तरह यह उनके इकिगाई के सभी हिस्सों को संतुष्ट करता है। तो इस प्रकार इस तरह की चीजें बनाना ही उनका इकिगाई है।

तो इसी तरह से आपको भी अपने इकिगाई को ढूंढना है। जो इकिगाई फार्मूले के सभी हिस्सों को संतुष्ट करें। यानी कोई काम करना आपको पसंद है, आप उसके एक्सपर्ट भी हैं, दुनिया को इस काम की जरूरत भी है और आपको इस काम के बदले पैसे भी मिलते हैं।

जब आप अपना इकिगाई ढूंढ लेते हैं, तो आप भी एक खुशहाल व तनाव मुक्त जीवन जी पाएंगे। आज आप जितने भी महान लोगों को देख रहे हैं उन्होंने अपने इकिगाई को ढूंढ लिया है, इसलिए वे आज इतने महान हैं।

आप सदी के महान अभिनेता अमिताभ बच्चन को ही ले लीजिए उन्हें एक्टिंग करना पसंद था। इसके लिए उन्होंने मेहनत की और इस स्किल में वे एक्सपर्ट हो गए। उनकी फिल्में देखना लोगों को पसंद आया, इसलिए लोगों को उनके अभिनय की जरूरत थी और इसके बदले बच्चन साहब को पैसे भी मिले। इस तरह से अभिनय करना बच्चन साहब का इकिगाई हुआ।

जब आप अपने इकिगाई ( IKIGAI ) को ढूंढ कर उसके अनुसार ही कार्य करते हैं तो आपको अपने कार्य को करने में इतना आनंद आता है कि आप कार्य करने की सारी हदें पार कर देते हो। आपको दिन-रात व भूख प्यास का भी पता नहीं चलता और आप अपने काम को करते करते कभी भी थकते नहीं।

आप अपने काम को करते हुए ‘ Flow State ‘ हासिल कर लेते हैं यानी आप अपने काम में इतने तल्लीन हो जाते हैं कि आपको यह भी पता नहीं चलता कि आपके आसपास क्या हो रहा है।

आप अपने इकिगाई ( IKIGAI ) को ढूंढ कर उस में एक्सपर्ट बनकर वह स्थान हासिल कर सकते हैं, जहां टेक्नोलॉजी भी आप की जगह नहीं ले सकती। उदाहरण के लिए मार्क कोर्ट, जो कि रोल्स रॉयस जो दुनिया की सबसे महंगी कार निर्माण कंपनी है, के कोच लाइन पैंटर हैं। वह रोल्स रॉयस गाड़ियों पर डिजाइन के लिए अपने हाथों से सीधी लाइने खींचते हैं।

यह एक बहुत ही असाधारण कला है। क्योंकि यह काम कंप्यूटर के द्वारा भी नहीं किया जा सकता। वह अपने काम के दौरान इतने तल्लीन हो जाते हैं कि आसपास हो रही गतिविधियों का उन पर कोई असर नहीं होता और वह हाथ से ही बिल्कुल सीधी लाइने खींचते हैं।

आपको अचानक से आपका इकिगाई ( IKIGAI ) नहीं मिलेगा इसके लिए आपको खुद को जानना होगा, अपने अंदर की आवाज को सुनना होगा और अपने खुद से पूछना होगा कि आपको क्या करना सबसे ज्यादा पसंद है।

आपको अपने खुद के प्रति जिज्ञासु होना पड़ेगा अपनी पसंद नापसंद के बारे में जानना होगा। जब आप यह सब करेंगे तो आपको स्वयं ही यह पता चल जाएगा कि आपके जीवन का असली मकसद क्या है या आपके जीने की वजह क्या है। वही आपका इकिगाई ( IKIGAI ) होगा।

यह सभी बातें मैंने आपको ‘ Hector Garcia and Frances Miralles ‘ की बुक इकिगाई ( IKIGAI ) से बताई है। अगर आप इसे खरीदना चाहते है तो निचे दिए लिंक पर जाकर इसे खरीद सकते है।

अपने IKIGAI को कैसे जानें।

Ikigai Book Summary In Hindi For Happy Life

इनके बारे में भी पढ़े -:

Read More -:

आपको मेरा यह ब्लॉग ‘ Ikigai Book Summary In Hindi ‘ कैसा लगा, मुझे कमेंट करके बताएं।

अगर आपको मेरा यह ब्लॉग’ इकिगाई बुक समरी हिंदी में | Ikigai Book Summary In Hindi ‘ अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों को भी शेयर करें।

ताकि जो लोग जीवन में कुछ करना चाहते है, कुछ बनना चाहते। लेकिन जीवन की मुसीबतों के कारण हार मान कर बैठ गए है वे इस Ikigai Book Summary In Hindi से Inspire हो सके, Motivate हो सके।

मेरे फेसबुक पेज पर जाकर इसे लाइक व अपने दोस्तों के साथ शेयर करें, लिंक नीचे दे दिया गया है।

https://www.facebook.com/successmatters4me-113401247074883

Related Tags -:

  • Ikigai Book Review In Hindi
  • Book Summary Of Ikigai
  • Ikigai Book Review
  • Ikigai Summary
  • Summary Of Ikigai Book
  • Book Review Of Ikigai
  • Summary Of Ikigai
  • Book Review On Ikigai
  • Book Review Ikigai
  • Ikigai Book Review In Hindi
  • Ikigai Summary In Short
  • Ikigai Book Summary

Add a Comment

Your email address will not be published.